सरकारी योजना/भर्ती ग्रुप

SBI और पोस्ट ऑफिस Monthly Income Scheme: कौन सी है आपके लिए बेस्ट?

Monthly Income Scheme: अगर आप एक ऐसी योजना की तलाश में हैं, जिसमें एक बार निवेश करने पर जीवन भर हर महीने आपको नियमित आय मिले और वह भी सरकारी गारंटी के साथ, तो एसबीआई और पोस्ट ऑफिस की मंथली इनकम स्कीम सबसे ऊपर आती हैं। आइए इन योजनाओं के बारे में विस्तार से जानें और उनकी तुलना करें, ताकि आप अपने लिए सबसे उपयुक्त योजना चुन सकें।

Monthly Income Scheme

जब आप नियमित मासिक आय की तलाश में होते हैं, तो एसबीआई और पोस्ट ऑफिस की मंथली इनकम स्कीम मुख्य विकल्प के रूप में उभरती हैं। दोनों योजनाएं एकमुश्त निवेश समाधान प्रदान करती हैं जो नियमित मासिक भुगतान की गारंटी देती हैं। आइए इन योजनाओं की विस्तार से जानकारी लें और देखें कि वे कैसे तुलना करती हैं।

एसबीआई मंथली इनकम स्कीम (MIS)

एसबीआई मंथली इनकम स्कीम, सुरक्षित, सरकारी-समर्थित योजना के माध्यम से नियमित मासिक आय प्रदान करने के लिए बनाई गई है। इसके प्रमुख फीचर्स निम्नलिखित हैं:

एसबीआई MIS की प्रमुख विशेषताएँ:

  1. एकल जमा, जीवन भर की आय: एक बार में निवेश करें और अगले महीने से मासिक भुगतान प्राप्त करना शुरू करें।
  2. निवेश की सुरक्षा: खाता धारक की मृत्यु होने पर, निवेश की गई राशि नामित व्यक्ति को वापस कर दी जाती है।
  3. दो योजना विकल्प:
    • एसबीआई एन्युइटी प्लान (एनटी प्लान): बिना निवेश की राशि वापस किए मासिक आय प्रदान करता है।
    • एसबीआई एन्युइटी प्लान विद इन्वेस्टमेंट रिटर्न: मासिक आय और खाता धारक की मृत्यु होने पर निवेश की राशि की वापसी दोनों प्रदान करता है।

आय और निवेश विवरण:

आइए देखें कि ₹10,000 मासिक आय प्राप्त करने के लिए प्रत्येक योजना में कितना निवेश करना होगा:

योजनानिवेश राशिमासिक आयमूलधन वापसी
एसबीआई एन्युइटी प्लान (एनटी प्लान)₹12,00,000₹10,000नहीं
एसबीआई एन्युइटी प्लान विद इन्वेस्टमेंट रिटर्न₹19,73,000₹10,000हाँ

जहाँ एसबीआई एन्युइटी प्लान (एनटी प्लान) के लिए निवेश की आवश्यकताएं कम हैं, वहाँ यह योजना मूलधन वापस नहीं करती, जिससे मासिक आय और पूंजी संरक्षण दोनों चाहने वालों के लिए निवेश-रिटर्न योजना बेहतर विकल्प है।

पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम (MIS)

पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम एक और सुरक्षित विकल्प है, जो अपनी सादगी और गारंटीड रिटर्न के लिए जानी जाती है। आइए इसके बारे में जानें:

पोस्ट ऑफिस MIS की प्रमुख विशेषताएँ:

  1. निवेश सीमा: व्यक्तिगत खाते के लिए अधिकतम ₹4.5 लाख और संयुक्त खातों के लिए ₹9 लाख।
  2. मासिक आय: निवेशित राशि के आधार पर तयशुदा मासिक आय प्रदान करता है।
  3. टीडीएस कटौती नहीं: अर्जित ब्याज टीडीएस से मुक्त होता है, जिससे निवेशक को पूरी आय मिलती है।
  4. लचीली निकासी: निवेश की गई राशि को पांच साल के बाद, या छोटे जुर्माने के साथ पहले भी निकाला जा सकता है।
  5. सरकारी गारंटी: सरकारी-समर्थित योजना के रूप में, दोनों ही मूलधन और ब्याज सुरक्षित होते हैं।

आय और निवेश विवरण:

यहाँ निवेश की आवश्यकताएं और मासिक आय का तुलनात्मक विवरण दिया गया है:

निवेश राशिमासिक आयअधिकतम निवेश (व्यक्तिगत)अधिकतम निवेश (संयुक्त)
₹1,00,000₹925₹4,50,000₹9,00,000

₹1,00,000 के निवेश पर आपको ₹925 मासिक आय प्राप्त होगी। संयुक्त खातों के लिए, आप ₹9 लाख तक निवेश कर सकते हैं, जिससे मासिक आय आनुपातिक रूप से बढ़ेगी।

तुलना: एसबीआई MIS बनाम पोस्ट ऑफिस MIS

निवेश और रिटर्न:

विशेषताएसबीआई MISपोस्ट ऑफिस MIS
निवेश की आवश्यकतातुलनीय रिटर्न के लिए अधिककम, लेकिन अधिकतम निवेश सीमा है
मासिक आयसमान निवेश राशि के लिए अधिकनिवेश सीमा के आधार पर तयशुदा मासिक आय
मूलधन वापसीनिवेश-रिटर्न विकल्प के साथ उपलब्धपाँच साल बाद या पहले भी निकासी पर वापसी
लचीलापनमूलधन वापसी के साथ या बिना वापसी के विकल्पपाँच साल बाद या छोटे जुर्माने के साथ पहले भी निकासी
सुरक्षासरकारी-समर्थित, विकल्पों के साथसरकारी-समर्थित, सुरक्षित रिटर्न के साथ

लागत-प्रभावशीलता:

लागत-प्रभावशीलता के मामले में, पोस्ट ऑफिस MIS समान मासिक रिटर्न के लिए कम प्रारंभिक निवेश की आवश्यकता होती है। हालांकि, एसबीआई MIS उच्च संभावित मासिक भुगतान और अधिक लचीलेपन के मामले में बेहतर विकल्प हो सकता है।

निष्कर्ष

एसबीआई और पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम दोनों ही सुरक्षित, सरकारी-समर्थित विकल्प हैं जो नियमित मासिक आय की गारंटी देते हैं। आपके लिए सबसे उपयुक्त योजना का चयन आपके निवेश की क्षमता, आय की आवश्यकता और मूलधन की वापसी की प्राथमिकता पर निर्भर करता है।

Read more: Cash deposit limit rule: इनकम टैक्स विभाग के नए नियम के अनुसार इस से ज्यादा नगद नहीं जमा करा सकते खाते में

Leave a comment