सरकारी योजना/भर्ती ग्रुप

Business ideas: इस तरह से किया जाता है आम को एक्सपोर्ट, कमाते है लाखो रुपये, 1 बार जरुर पढ़ें

Business ideas: आम, जिसे फलों का राजा कहा जाता है, भारत में सिर्फ एक फल नहीं बल्कि संस्कृति और कृषि का अभिन्न हिस्सा है। इस स्वादिष्ट फल की महक और मिठास न केवल भारतीय बाजारों में बल्कि विदेशों में भी इसकी उच्च मांग को दर्शाती है। परंतु, क्या आपने कभी सोचा है कि जो आम हम खाते हैं और जो आम विदेशों में भेजे जाते हैं, उनमें क्या अंतर होता है? क्या दोनों की गुणवत्ता समान होती है, या फिर उन्हें अलग तरीके से तैयार किया जाता है?

इस ब्लॉग पोस्ट में हम इस रहस्य से पर्दा उठाने जा रहे हैं। हम आपको बताएंगे कि किसानों और व्यापारियों द्वारा आम को किस तरह से तैयार किया जाता है ताकि यह विदेशों में उच्च गुणवत्ता के साथ पहुंच सके।

आम की अनोखी यात्रा: खेत से विदेश तक

आम की खेती और उसकी प्रोसेसिंग एक जटिल प्रक्रिया है, जिसमें अत्यधिक ध्यान और मेहनत की आवश्यकता होती है। जब हम आम को सीधे पेड़ से तोड़ते हैं, तो उसमें एक विशेष प्रकार का रस होता है जो पकने की प्रक्रिया शुरू कर देता है। इस रस को ध्यान में रखते हुए, आम की क्वालिटी और उसकी पकी हुई अवस्था का निर्धारण करना महत्वपूर्ण होता है।

आम की ग्रेडिंग और सॉर्टिंग

आम के चयन की प्रक्रिया में सबसे पहले सॉर्टिंग और ग्रेडिंग आती है। पेड़ से ताजे तोड़े गए आम को पहले धोया जाता है और फिर उसे पानी में डुबोया जाता है। यहाँ एक साधारण लेकिन प्रभावी परीक्षण होता है: जो आम पानी में डूब जाता है, वह पूरी तरह से पका होता है और उसे प्राकृतिक तरीके से पकने के लिए छोड़ दिया जाता है। वहीं, जो आम पानी के ऊपर तैरता है, उसे एक अलग तरीके से ट्रीट किया जाता है ताकि उसकी गुणवत्ता बनी रहे।

वेपर हीट ट्रीटमेंट: आम की लंबी उम्र का राज

विदेशों में भेजे जाने वाले आम को लंबे समय तक ताजा बनाए रखने के लिए उन्हें विशेष उपचार की आवश्यकता होती है। इस प्रक्रिया में वेपर हीट ट्रीटमेंट (VHT) का महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इस ट्रीटमेंट के दौरान, आम को 47.3°C से 47.8°C तक के तापमान पर लगभग आधे घंटे तक वेपर के माध्यम से गर्म किया जाता है। यह प्रक्रिया न केवल आम के भीतर के फंगस और बैक्टीरिया को मार देती है, बल्कि इसे पूरी तरह से प्राकृतिक और केमिकल मुक्त भी बनाती है।

हॉट वाटर ट्रीटमेंट: एक और प्राकृतिक तरीका

इसके अलावा, हॉट वाटर ट्रीटमेंट भी आम को लंबे समय तक ताजा बनाए रखने का एक प्रभावी तरीका है। इस प्रक्रिया में, आम को गर्म पानी में डुबोया जाता है जिससे कीटाणु मर जाते हैं और आम धीरे-धीरे पकता है। यह विधि पूरी तरह से सुरक्षित और स्वास्थ्यवर्धक है क्योंकि इसमें किसी भी प्रकार के रसायन का उपयोग नहीं होता।

विदेशों में आम की गुणवत्ता और मांग

जब आम को विदेशों में भेजा जाता है, तो उसकी गुणवत्ता और स्वाद को बनाए रखने के लिए इन प्रक्रियाओं का पालन किया जाता है। यह सुनिश्चित करता है कि उपभोक्ताओं को ताजा और स्वास्थ्यवर्धक आम प्राप्त हो। एक अच्छी क्वालिटी का आम, जो प्राकृतिक रूप से पकता है और बिना किसी केमिकल ट्रीटमेंट के तैयार होता है, न केवल अधिक समय तक ताजा रहता है बल्कि इसका स्वाद भी उत्कृष्ट होता है।

कोल्ड स्टोरेज: ताजगी बनाए रखता है

आम के प्रोसेसिंग के बाद, उन्हें कोल्ड स्टोरेज में रखा जाता है। यह तापमान नियंत्रित वातावरण आम को लंबे समय तक ताजा रखता है। कोल्ड स्टोरेज का उपयोग आम की सेल्फ लाइफ को बढ़ाने के लिए किया जाता है, जिससे यह सुनिश्चित होता है कि आम का स्वाद और गुणवत्ता अंतरराष्ट्रीय बाजारों में भी बनी रहे।

आम के निर्यात की पहल

किसान और व्यापारी इस प्रक्रिया में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। वे न केवल उच्च गुणवत्ता वाले आम का उत्पादन करते हैं, बल्कि उन्हें अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुसार तैयार भी करते हैं। विकास कुमार जैसे किसान और व्यापारी इस दिशा में लगातार प्रयासरत हैं। वे उच्च तकनीक और आधुनिक प्रक्रियाओं का उपयोग करके आम को इस प्रकार तैयार करते हैं कि वह विदेशी बाजारों में भी अपनी गुणवत्ता और स्वाद के लिए प्रसिद्ध हो।

सरकारी सहयोग और तकनीकी उन्नति

सरकार का योगदान भी उल्लेखनीय है। सरकार ने किसानों और व्यापारियों को उच्च तकनीक के उपकरण और मशीनरी उपलब्ध कराई है, जो कि वेपर हीट ट्रीटमेंट और हॉट वाटर ट्रीटमेंट जैसे प्रोसेस को संभव बनाती हैं। इन सुविधाओं के किराए पर उपलब्धता के कारण, छोटे और मध्यम किसान भी अपने उत्पाद को अंतरराष्ट्रीय बाजारों में भेजने के योग्य बन पाते हैं।

निस्कर्ष

आम की इस पूरी यात्रा में यह स्पष्ट होता है कि किसानों और व्यापारियों के अथक प्रयासों से यह संभव हो पाया है कि भारतीय आम, अपनी गुणवत्ता और स्वाद के लिए विदेशों में भी मशहूर हो सके। यह सिर्फ एक फल नहीं बल्कि हमारे मेहनती किसानों की क्षमता और नवीनता का प्रतीक है।

अगर आप भी आम के शौकीन हैं और उसके स्वाद और गुणवत्ता के बारे में और अधिक जानना चाहते हैं, तो हमारे ब्लॉग के अगले एपिसोड में बने रहें। और हमारे whatsapp ग्रुप में जुड़ना न भूले।

Also Read: Small Business ideas: इससे बनती है माचिस की तीली, पेंसिल व् प्लाईवुड, लोग 50 लाख तक कमाते है 1 बार में

Leave a comment