सरकारी योजना/भर्ती ग्रुप

Make money: 4 सीक्रेट जापानी पद्दतियों को हर बड़ा व्यापारी अपनाता है, 1 बार जरुर पढ़ें

Make money: कल्पना करें कि आप ऐसे देश में रहते हैं जहाँ हर तीन-चार साल में भूकंप या सुनामी आती है और सब कुछ तबाह हो जाता है। आपको लगेगा कि ऐसे स्थान पर जीवित रहना कठिन होगा, विकसित होना तो दूर की बात है। लेकिन जापान, जो द्वितीय विश्व युद्ध में दो परमाणु बमों से तबाह हो गया था, अब दुनिया की सबसे मजबूत अर्थव्यवस्थाओं में से एक है।

वहाँ के लोग दुनिया के सबसे उच्च जीवन स्तरों में से एक का आनंद लेते हैं और विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्टता प्राप्त करते हैं। जापानी कौन सी खास तकनीकें अपनाते हैं जो उन्हें विशेष बनाती हैं? आज, हम जापानी सफलता के चार सिद्धांतों को जानेंगे और कैसे आप इन्हें अपने निवेश और करियर में लागू कर सकते हैं। आइए जानते हैं!

1. इकीगाई: जीवन का उद्देश्य खोजें

इकीगाई एक जापानी अवधारणा है जो “इकी” (जीवन) और “गाई” (कारण) शब्दों को मिलाकर बनी है, जिसका अर्थ है “जीने का कारण”। इकीगाई का मूल यह है कि आप उस बिंदु को खोजें जहाँ आपके प्यार, आपकी कुशलता, दुनिया की जरूरतें और आप जिससे पैसा कमा सकते हैं, वह सब मिल जाए। यह मिलन गहरा उद्देश्य प्रदान करता है जो खुशी और संतोष की दिशा में ले जाता है।

इकीगाई कैसे खोजें?

अपने इकीगाई को खोजने के लिए आपको चार मौलिक प्रश्नों का उत्तर देना होगा:

  • आपको क्या पसंद है? (आपका जुनून)
  • आप किसमें अच्छे हैं? (आपका पेशा)
  • दुनिया को क्या चाहिए? (आपका मिशन)
  • आप किसके लिए भुगतान पा सकते हैं? (आपका पेशा)

इन सवालों को चार वृत्तों की तरह सोचें जो एक दूसरे को काटते हैं। उनका मेल आपका इकीगाई होता है। यह शक्तिशाली अवधारणा ओकिनावा से आती है, जो दुनिया के सबसे खुश और सबसे लंबे समय तक जीने वाले लोगों का घर है।

उदाहरण: इकीगाई का अभ्यास

कल्पना करें कि एक शिक्षक है जिसे बच्चों को पढ़ाना पसंद है (जुनून), जटिल विषयों को सरल बनाने में निपुण है (पेशा), युवा दिमागों को आकार देने के महत्व में विश्वास करता है (मिशन), और शिक्षण के माध्यम से आजीविका कमाता है (पेशा)। उनका इकीगाई उनके शिक्षा में लाए गए अनूठे दृष्टिकोण में हो सकता है, जिससे उन्हें एक संतोषजनक और प्रभावशाली करियर मिलता है।

2. अरिगातो: धन में आभार की शक्ति

अरिगातो का मतलब है “धन्यवाद”। जापानी मानते हैं कि धन के प्रति आभार व्यक्त करने से अधिक धन आकर्षित होता है और धन के साथ एक स्वस्थ संबंध बनता है। यह मानसिकता वित्तीय तनाव को कम करने और जिम्मेदार खर्च को बढ़ावा देने में मदद करती है।

अरिगातो को दैनिक जीवन में कैसे अपनाएँ?

जब आप अपना वेतन प्राप्त करते हैं या खरीदारी करते हैं, तो पैसे का धन्यवाद करें। यह साधारण आभार का कार्य आपकी सोच को कमी से संपन्नता की ओर ले जाता है, जिससे आप संतोष महसूस करते हैं और अनावश्यक खर्चों से बचते हैं। उदाहरण के लिए:

व्यक्तिवेतनपैसे के प्रति दृष्टिकोणवित्तीय परिणाम
आप₹15,000आभारी, समझदार खर्चकर्ताबचत बढ़ती है, तनाव कम
मित्र₹25,000असंतुष्ट, लापरवाह खर्चकर्तावित्तीय संघर्ष निरंतर

पैसे का धन्यवाद करके, आप संपन्नता की भावना विकसित करते हैं, जो आपको अपने खर्च और बचत की आदतों के प्रति अधिक सचेत बनाता है।

3. काकेइबो: वित्तीय सजगता की कला

काकेइबो का अर्थ है “घरेलू वित्तीय लेखा-जोखा” और यह वित्त प्रबंधन की एक पारंपरिक जापानी विधि है। 1904 में हानी मोटोकों द्वारा आविष्कृत, काकेइबो आपको अपनी आय और खर्चों को बारीकी से ट्रैक करने के लिए प्रोत्साहित करता है, जिससे वित्तीय अनुशासन और सजगता बढ़ती है।

काकेइबो का उपयोग कैसे करें?

  1. सभी लेन-देन को रिकॉर्ड करें: एक नोटबुक रखें जहाँ आप अपनी सारी आय और खर्चों को सूचीबद्ध करें।
  2. खर्च से पहले विचार करें: खरीदारी से पहले खुद से पूछें:
    • क्या मुझे इस चीज़ की ज़रूरत है?
    • क्या मैं इसे खरीद सकता हूँ?
    • क्या मैं इसे उपयोग करूंगा?
    • क्या मेरे पास इसके लिए जगह है?
    • खरीदते समय मेरी भावनात्मक स्थिति क्या है?
    • खरीदारी के बाद मुझे कैसा महसूस होगा?

इन सवालों का पालन करके, आप अपनी खर्च की आदतों के प्रति अधिक जागरूक हो जाते हैं, जो पैसे बचाने और अनायास खरीदारी से बचने में मदद करता है।

उदाहरण: काकेइबो का अनुपालन

सारा टोक्यो चली गई और उसने काकेइबो विधि को अपनाया। उसने देखा कि उसके वित्तीय आदतों में काफी सुधार हुआ:

महीनाआय (¥)खर्च (¥)बचत (¥)टिप्पणियाँ
जनवरी3,00,0002,70,00030,000गैर-आवश्यक वस्तुओं पर उच्च खर्च
फरवरी3,00,0002,50,00050,000आकस्मिक खरीदारी में कमी
मार्च3,00,0002,20,00080,000आवश्यकताओं पर ध्यान केंद्रित किया

सारा की बचत तीन महीनों में 35% से अधिक बढ़ गई काकेइबो के सिद्धांतों का पालन करके और अपने खर्च के प्रति अधिक सजग बनकर।

4. काइज़ेन: निरंतर सुधार

काइज़ेन छोटे, निरंतर सुधारों के माध्यम से सुधार का दर्शन है। जापानी में, “काई” का मतलब है परिवर्तन, और “ज़ेन” का मतलब है अच्छा। इस सिद्धांत को जीवन के विभिन्न पहलुओं, जैसे कि व्यवसाय, स्वास्थ्य और निवेश में लागू किया जा सकता है।

अपने निवेश में काइज़ेन को कैसे लागू करें?

छोटे निवेशों से शुरू करें और समय के साथ उन्हें बढ़ाएं। यह विधि न केवल जोखिम को कम करती है बल्कि अनुशासन और स्थिरता भी बनाती है।

केस स्टडी: निवेश में काइज़ेन

मान लीजिए दो कर्मचारी, अमित और राहुल, दोनों एसआईपी (सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान) के माध्यम से निवेश करते हैं:

निवेशकप्रारंभिक एसआईपी राशि (₹)वार्षिक वृद्धि (%)25 वर्षों के बाद अंतिम मूल्य (₹)
अमित7,0000%1,33,00,000
राहुल5,00010%1,65,00,000

हालाँकि अमित ने उच्च एसआईपी राशि से शुरू किया, लेकिन राहुल की काइज़ेन दृष्टिकोण के अनुसार अपने एसआईपी को प्रति वर्ष 10% बढ़ाने की प्रतिबद्धता ने अंततः उच्च अंतिम मूल्य प्राप्त करने में मदद की, जो छोटे, निरंतर सुधारों की शक्ति को दर्शाता है।

निष्कर्ष

इन चार जापानी तकनीकों—इकीगाई, अरिगातो, काकेइबो, और काइज़ेन—को अपनाकर आप अपनी ज़िंदगी और करियर को बदल सकते हैं। ये सिद्धांत व्यक्तिगत और पेशेवर विकास के लिए एक संतुलित, संतोषजनक दृष्टिकोण को बढ़ावा देते हैं। इन्हें आजमाएँ और सफलता के अपने पथ को खोलें!

Read more: Post Office Monthly Income Scheme 2024: इस तरह पोस्ट ऑफिस देगा 11,500 रुपये

Leave a comment