सरकारी योजना/भर्ती ग्रुप

Education loan: शिक्षा लोन इस तरह लेंगे तो मिलेगी सब्सिडी, वो भी कम ब्याज दर पर, अभी जाने

Education loan: उच्च शिक्षा प्राप्त करना एक महत्वपूर्ण वित्तीय निवेश हो सकता है। चाहे आप भारत में या विदेश में पढ़ाई करने की सोच रहे हों, शिक्षा ऋण आपकी आर्थिक चिंताओं को कम करने में मदद कर सकता है। इस ब्लॉग पोस्ट में, हम शिक्षा ऋण के बारे में विस्तृत जानकारी देंगे, जिसमें ऋण लेने की प्रक्रिया, पात्रता, ब्याज दरें, और अन्य महत्वपूर्ण बातें शामिल हैं।

शिक्षा ऋण क्या है?

शिक्षा ऋण एक वित्तीय सहायता है जो बैंकों और वित्तीय संस्थानों द्वारा छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए प्रदान की जाती है। ये ऋण ट्यूशन फीस, किताबें, आवास, और अन्य संबंधित खर्चों को कवर करने में मदद करते हैं।

शिक्षा ऋण के प्रकार

  1. घरेलू शिक्षा ऋण: भारतीय कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में पढ़ाई के लिए।
  2. अंतरराष्ट्रीय शिक्षा ऋण: विदेश में शिक्षा प्राप्त करने के लिए।

पात्रता मापदंड

  • 12वीं कक्षा या समकक्ष की पढ़ाई पूरी होनी चाहिए।
  • भारत या विदेश के किसी मान्यता प्राप्त संस्थान में प्रवेश।
  • स्नातक, स्नातकोत्तर, पेशेवर और तकनीकी कोर्स के लिए ऋण उपलब्ध।

शिक्षा ऋण की मुख्य विशेषताएँ

विशेषताविवरण
ऋण राशि₹75 लाख तक (बैंक और कोर्स के आधार पर भिन्न)
ब्याज दर6.85% – 10% प्रति वर्ष (बैंक और कोर्स के आधार पर भिन्न)
भुगतान अवधिअधिकतम 15 साल
मोरेटोरियम अवधिकोर्स की अवधि + 1 साल
मार्जिन मनी₹4 लाख तक: 0%, ₹4 – ₹7.5 लाख: 5%, ₹7.5 लाख से ऊपर: 15% (विदेशी शिक्षा के लिए)
प्रोसेसिंग शुल्क₹10 लाख तक: कोई शुल्क नहीं, ₹10 लाख से ऊपर: ऋण राशि का 1%
संपार्श्विक₹7.5 लाख तक: माता-पिता के दस्तावेज, ₹7.5 लाख से ऊपर: संपत्ति/सोना/फिक्स्ड डिपॉजिट आदि।
आवश्यक दस्तावेज़शैक्षिक प्रमाणपत्र, प्रवेश पत्र, शुल्क संरचना, पहचान प्रमाण, पते का प्रमाण आदि।
सिबिल स्कोरछात्र या माता-पिता के लिए आवश्यक
सब्सिडी उपलब्धताएससी/एसटी/ईडब्ल्यूएस श्रेणियों के लिए ब्याज सब्सिडी उपलब्ध

ब्याज दरें और ऋण राशि

ब्याज दरें और भुगतान शर्तें ऋण राशि के आधार पर भिन्न होती हैं। यहाँ एक सारांश दिया गया है:

ऋण राशि (₹)ब्याज दर (% प्रति वर्ष)मार्जिन मनी (%)भुगतान अवधि
0 – 4 लाख6.85% – 9.50%0%कोर्स की अवधि + 1 साल
4 – 7.5 लाख7.50% – 10%5%अधिकतम 15 साल
7.5 लाख से ऊपर8% – 10%15%अधिकतम 15 साल

प्रमुख बैंकों से शिक्षा ऋण की तुलना

विभिन्न बैंकों के प्रस्तावों की तुलना करना महत्वपूर्ण है ताकि आप सबसे अच्छा विकल्प चुन सकें। नीचे भारत के प्रमुख बैंकों से शिक्षा ऋण विकल्पों की तुलना दी गई है:

बैंकऋण राशिब्याज दरमोरेटोरियम अवधिप्रोसेसिंग शुल्कसंपार्श्विक आवश्यकता
एसबीआई₹10,000 – ₹75 लाख6.85% – 10%कोर्स की अवधि + 1 साल₹10 लाख तक: कोई शुल्क नहीं₹7.5 लाख तक: माता-पिता के दस्तावेज, ₹7.5 लाख से ऊपर: संपत्ति
एचडीएफसी₹50,000 – ₹20 लाख7.45% – 10%कोर्स की अवधि + 1 सालऋण राशि का 1%₹7.5 लाख से ऊपर: संपत्ति
आईसीआईसीआई₹1 लाख – ₹40 लाख8% – 10.5%कोर्स की अवधि + 1 साल₹10 लाख तक: कोई शुल्क नहीं₹7.5 लाख तक: माता-पिता के दस्तावेज, ₹7.5 लाख से ऊपर: संपत्ति
एक्सिस बैंक₹50,000 – ₹40 लाख8.25% – 10.75%कोर्स की अवधि + 1 सालऋण राशि का 1.5%₹7.5 लाख से ऊपर: संपत्ति

शिक्षा ऋण के लिए आवश्यक दस्तावेज़

सही दस्तावेज़ तैयार रखना ऋण स्वीकृति प्रक्रिया के लिए महत्वपूर्ण है। यहाँ आवश्यक दस्तावेज़ों की एक सूची दी गई है:

दस्तावेज़विवरण
10वीं और 12वीं की मार्कशीटपिछले शैक्षिक योग्यता का प्रमाण
प्रवेश परीक्षा परिणामप्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करने का प्रमाण
प्रवेश पत्रकॉलेज/विश्वविद्यालय से प्राप्त आधिकारिक प्रवेश पत्र
शुल्क संरचनाकोर्स की फीस का विस्तृत विवरण
पासपोर्ट साइज फोटोछात्र और माता-पिता की फोटो
पहचान प्रमाण (आधार, पैन)छात्र और माता-पिता का पहचान प्रमाण
पते का प्रमाणनिवास पते का प्रमाण
बैंक स्टेटमेंट्सपिछले 6 महीनों की बैंक स्टेटमेंट्स
पासपोर्ट (विदेश में पढ़ाई के लिए)पासपोर्ट की फोटोकॉपी
आयकर रिटर्न (यदि लागू हो)पिछले 2 सालों के आईटीआर की प्रतियाँ

आवेदन प्रक्रिया

आप ऊपर दी गयी टेबल के अनुसार बैंक का चयन करें, और नजदीकी ब्रांच का चयन कर आवेदन करें l

निष्कर्ष

शिक्षा ऋण प्राप्त करना आपके उच्च शिक्षा के सपनों को वित्तीय तनाव के बिना पूरा करने का एक रणनीतिक तरीका हो सकता है। शिक्षा ऋण के विभिन्न पहलुओं को समझकर, जिसमें प्रक्रिया, पात्रता, ब्याज दरें और आवश्यक दस्तावेज़ शामिल हैं, आप एक सूचित निर्णय ले सकते हैं जो आपके शैक्षिक और वित्तीय लक्ष्यों के अनुरूप हो।

Also Read: Rent Agreement in Hindi 2024: रेंट अग्रीमेंट में इन बातों को भी लिखे, कहीं किरायेदार न बन जाये मालिक

Leave a comment